“दैवी- दानवीय युद्ध” पुस्तक का विमोचन

हिन्दू महासभा भवन दिल्ली के कार्यक्रम में स्वामी बाल योगेश्वर जी महाराज निरंजनी अखाड़ा के तत्वाधान में “दैवी- दानवीय युद्ध” पुस्तक का विमोचन किया गया। यह कार्यक्रम अयोध्या रामजन्म भूमि की मुक्ति के लिए 500 वर्षो से युद्ध के बलिदानियों के स्मारक के निर्माण हेतु आयोजित किया गया।

स्वामी बाल योगेश्वर महाराज ने कहा यह पुस्तक हिन्दू धर्म और भारत के विरुद्ध छद्म युद्व करने वालो का खुलासा कर देगी। हिन्दू धर्म के दोगले ठेकेदारो का असली चेहरा जनता के सामने प्रकट कर देगी।मानवता की रक्षा के लिये यह ऐतिहासिक पुस्तक है।यह एक ग्रंथ है।इसके लेखक की जितनी प्रशंसा की जाए वह कम है।संत आशाराम बापू को राष्ट्र विरोधी ,हिन्दू धर्म विरोधी शक्तियों द्वारा षड्यंत्र करके क्यों और कैसे फसाया गया है जबकि वे निर्दोष है यह इस पुस्तक में सिद्ध हो रहा है। साध्वी प्रज्ञा,शंकराचार्य जयेन्द्र सरस्वती निर्दोष साबित हुए है ।

हिन्दू यदि जीवित रहना चाहते है तो यह पुस्तक अवश्य पढ़ें।हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय प्रवक्ता श्री प्रमोद जोशीजी ने कहा बहुत ही कम शब्दों में बहुत सारे विषयो का सार इस पुस्तक में है। इस पुस्तक के लेखक श्री अयोध्या प्रसाद त्रिपाठी जी ने बहुत बड़ा साहसिक कदम उठाया है। लेखक ने मानवता और हिन्दू धर्म की रक्षा हेतु भारत सरकार से 48 मुकदमे जीते है ।जब डर कर सब नेता कह रहे थे हमने बाबरी ढांचा नही तोड़ा तब ,अयोध्या बाबरी ढांचा विध्वंश के पांच शपथ पत्र सरकार को दिए है। दो मुकदमे अभी भी चल रहे है।हिंदुओ की रक्षा के लिए यह पुस्तक एक बहुत बड़ा शस्त्र है।

प्रत्येक हिन्दू को यह पुस्तक दस लोगो तक पहुँचाना चाहिये।अखिल भारत हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री चंद्र प्रकाश कौशिक जी ने कहा पुस्तक को देखने से ही लग रहा है आज जो दैवी और दानवी युद्ध चल रहा है,कौन दैवी शक्तियाँ और कौन दानवी शक्तियाँ है यह इस पुस्तक को देखने से ही स्पष्ट लग रहा है।मुख पृष्ठ पर ही संत आशारामजी बापू और हिन्दू संतो का फोटो हैं दूसरी तरफ दानवी शाक्तियों को दिखाया गया है।पुस्तक देखने से ही लग रहा है इस पुस्तक के लेखक की जितनी प्रसंशा की जाये कम है।

Comments

comments

error: Content is protected !!
Open chat
Hi, Welcome to Upasana TV
Hi, May I help You
Powered by