मकर संक्रांति पर्व पर प्रथम शाही स्नान पर उमड़ा भक्तों का हुजूम

उपासना डेस्क, प्रयागराज: सूर्य उपासना के पर्व मकर संक्रांति पर संगम में श्रधालुओ की भारी भीड़ उमड़ रही है। कडाके की सर्दी के बाद भी आस्था का सैलाब संगम की तरफ त्रिवेणी के पावन जल में डुबकी लगाने के लिए अपने को रोक नहीं पा रहा है। इस बार मकर संक्रांति 14 और 15 जनवरी दो दिन मानी जा रही है बावजूद इसके बहुत से लोग 14 जनवरी को भी आस्था की डुबकी लगाने में संगम पहुच रहे हैं। प्रशासन की माने तो सूर्य उपासना के सबसे बड़े पर्व मकर संक्रान्ति में दो दिनों में 1 करोड़ से ज्यादा श्रद्धालु संगम की पावन धारा में डुबकी लगायेंगे।

कडाके की सर्दी के बाद भी प्रयागराज के संगम तट पर श्र्द्धालुयों का सैलाब उमड़ रहा है | देश के कोने कोने से लोग गंगा यमुना और अद्रश्य सरस्वती की पावन धारा में डुबकी लगाकर दान उपासना आदि कर पुण्य लाभ अर्जित कर रहे | धार्मिक मान्यता है की आज के दिन पवित्र नदियों में स्नान करने से माक्ष की प्राप्ति होती है |

लोग सुबह से संगम के कई घाटों में स्नान कर पूजा अर्चना और दान आदि कर रहे हैं | आज के दिन काली वस्तुयों और खिचडी के दान का विशेष महत्त्व है | त्रिवेणी के तट पर कुल १ हजार चारसौ ३५ बीघे में बसे इस माघ मेला क्षेत्र में हर तरफ श्रध्धालु ही नजर आ रहे हैं | मेला प्रशासन ने मेले की ब्यवस्था के लिए पूरे माघ मेला क्षेत्र को चार सेक्टरों में बांटा हैं |जसके लिए जिसके लिए दस हजार से अधिक कर्मचारी लगाए गए हैं | पूरे संगम क्षेत्र में कुल 12 घाट स्नान के लिए बनाये गए हैं जहा जाकर लोग स्नान कर रहे | मेला में भीड़ को नियंत्रित रखने के लिए पांच पीपे के पुल भी बनाये गए हैं |

Comments

comments

error: Content is protected !!