प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देखी कुम्भ की ऐतिहासिक तैयारियां, किया संगम तट पर त्रिवेणी पूजन

प्रयागराज में कुम्भ-2019 की चल रही तैयारियों का जायजा लेने एवं नव निर्मित निर्माण कार्यों का लोकार्पण करने के लिए आज प्रयागराज की पवित्र धरती पर मा0 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आगमन हुआ। मा0 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी प्रयागराज पहुंचने पर मा0 प्रधानमंत्री जी डीपीएस स्थित हेलीपैड पर उतरे। जहां पर उनका स्वागत प्रदेश के महामहिम राज्यपाल श्री राम नाईक, मा0 मुख्यमंत्री उ0प्र0 श्री योगी आदित्यनाथ जी, एडीजी-एस0एन साबत, मण्लायुक्त प्रयागराज डाॅ0 आशीष कुमार गोयल, जिलाधिकारी प्रयागराज श्री सुहास एल0वाई0, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री नितिन तिवारी के साथ अन्य वरिष्ठ अधिकारियों एवं गणमान्य लोगों ने किया।

मा0 प्रधानमंत्री मंत्री नरेंद्र मोदी अपनी प्रयागराज यात्रा का प्रारम्भ मेला क्षेत्र में स्थित इंटीग्रेटेड कंट्रोल कमाण्ड एण्ड सेंटर के लोकार्पण के साथ किया। मा0 प्रधानमंत्री जी के साथ प्रदेश के राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री के साथ वरिष्ठ अधिकारी भी वहां मौजूद रहे। मण्डलायुक्त डाॅ0 आशीष कुमार गोयल ने मा0 प्रधानमंत्री जी को इस नवनिर्मित इंटीग्रेटेड कंट्रोल कमाण्ड एण्ड सेंटर की सुविधाओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी। मा0 प्रधानमंत्री जी ने वहां पर एक लघु फिल्म का अवलोकन भी किया, जिसमें इस इंटीग्रेटेड कंट्रोल कमाण्ड एण्ड सेंटर की विशेषताओं के बारे में सम्पूर्ण जानकारी विस्तार से बतायी गयी थी। इस इंटीग्रेटेड कंट्रोल कमाण्ड एण्ड सेंटर के माध्यम से पूरे प्रयागराज जिले के आस-पास की जगहों पर सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से निगरानी की जा रही है, जिससे पूरे शहर में होने वाली किसी भी घटना पर सीधी नजर रखी जा सकेंगी। साथ ही समस्याओं का त्वरित समाधान भी सुनिश्चित किया जा सकेगा। इसके अन्तर्गत पूरे प्रयागराज के प्रमुख मार्गों पर लगभग 1198 सीसीटीवी कैमरे लगाये गये हंै, जिनसे पूरे प्रयागराज क्षेत्र की निगरानी की जा रही है। प्रयागराज जिले के लोगो को किसी भी घटना की जानकारी मिले तो वे सीधे 1920 नम्बर पर अपनी जानकारी दे सकते हैं और उस पर आधे घण्टे के अन्दर कार्रवाई सुनिश्चित की जायेगी। पूरे मेला क्षेत्र में 40 एलईडी स्क्रीन के माध्यम से कोई भी आवश्यक सूचना एवं जानकारी मेले में आने वाले श्रद्धालुओं तक पहुंचाये जाने की तैयारी कुम्भ 2019 में की गयी हंै। इसके अतिरिक्त इस इंटीग्रेटेड कंट्रोल कमाण्ड एण्ड सेंटर के माध्यम से क्षेत्र में लगने वाली जाम की समस्या पर भी नजर रखी जायेगी। जिससे कुम्भ के आयोजन में आने वाले श्रद्धालुओं को जाम की समस्या से न जूझना पड़े। इस इंटीग्रेटेड कंट्रोल कमाण्ड एण्ड सेंटर का उद्देश्य कुम्भ-2019 में आने वाले श्रद्धालुओं को सुरक्षा एवं सुविधा उपलब्ध कराना है। इसके साथ ही इसके माध्यम से कुम्भ-2019 में आने वाले श्रद्धालुओं की भारी भीड़ पर नजर भी रखी जा सकेंगी। जिससे श्रद्धालुओं हर सम्भव मदद कम से कम समय में उपलब्ध कराया जा सके।

मा0 प्रधानमंत्री जी कमाण्ड एण्ड कंट्रोल सेन्टर के लोकार्पण के बाद गंगा पूजन कार्यक्रम में शामिल हुए। मा0 प्रधानमंत्री जी के पूजा स्थल पर पहुंचने पर कुम्भ मेलाधिकारी श्री विजय किरन आनन्द ने मा0 प्रधानमंत्री जी का स्वागत किया। मा0 प्रधानमंत्री जी ने पूरे विधि-विधान के साथ साधु-संतो के साथ मां गंगा की पूजा-अर्जना की। उन्होंने मां गंगा को नारियल एवं पुष्प भेंट किये। साथ ही मां गंगा का दूध से अभिषेक भी किया। उन्होंने मां गंगा को चुनरी भी अर्पित की। मा0 प्रधानमंत्री जी ने मां गंगा की आरती भी उतारी। उन्होंने मां गंगा से कुम्भ-2019 के सफल आयोजन की कामना की। आरती के पश्चात मा0 प्रधानमंत्री जी को तीर्थपुरोहित ने उनके हाथ में कलावा भी बांधा। ंमा0 प्रधानमंत्री जी के साथ गंगा पूजन में प्रदेश के राज्यपाल, मुख्यमंत्री एवं अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत श्री नरेन्द्र गिरि जी के साथ सभी अखाड़ों के प्रमुख प्रतिनिधि गंगा पूजन में उपस्थित थे। मा0 प्रधानमंत्री जी ने वहां उपस्थित सभी साधु-संतो से मुलाकात की एवं उनका आर्शीवाद भी लिया। गंगा पूजन के बाद मा0 प्रधानमंत्री जी ने तीर्थपुरोहितों के साथ फोटो भी खिंचवाई। मा0 प्रधानमंत्री जी के साथ वहां मौजूद प्रदेश राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री जी ने ‘भव्य कुम्भ दिव्य कुम्भ’ के लोगो के समक्ष अपनी फोटो भी खिंचवाई। मा0 प्रधानमंत्री जी ने संगम तट पर अपनी सेल्फी भी खिंचवाई।

गंगा पूजन के उपरान्त मा0 प्रधानमंत्री जी संगम क्षेत्र में स्वच्छता प्रदर्शनी का भी अवलोकन भी किया। जिसमें कुम्भ-2019 के आयोजन को स्वच्छता के मानक पर अद्वितीय बनाने का चित्रण किया गया है। इस प्रदर्शनी में आधुनिक तकनीकि के माध्यम से कैसे सफाई व्यवस्था दुरूस्त रखी जा सकती है, इसके बारे में प्रदर्शनी में जानकारियां दी गयी थीं।

मा0 प्रधानमंत्री जी गंगा पूजन के बाद ऐतिहासिक किले में गये। जहां पर उन्होंने एतिहासिक और पौराणिक महत्व के वृक्ष अक्षयवट वृक्ष का दर्शन किया साथ ही किले के अन्दर स्थापित देवी-देवताओं के दर्शन-पूजन किया। मा0 प्रधानमंत्री जी ने वहां पर मौजूद सेना के अधिकारियों से कुम्भ-2019 की तैयारियों के सन्दर्भ में जानकारी ली। मा0 प्रधानमंत्री जी कुछ समय पवित्र अक्षयवट वृक्ष के नीचे बैठकर ध्यान किया। वहां पर मौजूद सेना के अधिकारियों ने मा0 प्रधानमंत्री जी को अक्षयवट वृक्ष के पत्तों का बना प्रतीक चिन्ह भेंट किया।

Comments

comments

error: Content is protected !!