कुम्भ मेला में की जा रही आपदा प्रबन्धन की तैयारियों को देखा गया

उपासना डेस्क, प्रयागराज: मेला कार्यालय स्थित सभागार में कुम्भ मेला मे आपदा प्रबन्धन एवं भीड़ प्रबन्धन योजना पर विभागों द्वारा की गयी तैयारियों को राष्ट्रीय आपदा प्राधिकरण के सदस्य ले. जनरल एनडीएमए श्री एन.सी. मारवा ने देखा। उन्होंने विभागों के द्वारा बनायी आपदा प्रबन्धन की योजना पर संतोष जाहिर किया। उन्होंने कहा कि आपदा प्रबन्धन सभी विभागों में आपसी समन्वय हो, इस बात का विशेष ध्यान रखा जाय। उन्होंने कहा कि आपदा प्रबंधन के लिए प्रशिक्षण एवं उसका रिहर्सल अवश्य करा लिया जाय, जिससे मेला के दौरान किसी भी समस्या से समय रहते निपटा जा सके। उन्होंने आपदा प्रबन्धन योजना के तहत लोगों को जागरूक करने को भी कहा।
ले. जनरल एनडीएमए ने कहा कि कुम्भ मेला, विश्व का सबसे बड़ा आयोजन होता है तथा इसे राष्ट्रीय पर्व के रूप में मनाया जाता है। इसलिए इस मेले मे आने वाले यात्रियों को किसी प्रकार की असुविधा न हो, इसका ध्यान रखा जाय। उन्होंने कहा कि लोगो के आने से लेकर जाने तक के तैयार किये गये प्लान पर कार्य करते हुए उन्हें सकुशल अच्छी यादों के साथ विदा किया जाय। उन्होंने सभागार मे विभागों के द्वारा दिखायी जा रही आपदा प्रबन्धन की तैयारियों को विस्तार से देखा। उन्होंने विभागो के अधिकारियों से कहा कि आपदा प्रबंधन योजना में विभागों का आपसी तालमेल बहुत महत्वपूर्ण होता है तथा इसके साथ ही प्रशिक्षण तथा रिहर्सल भी अपना महत्वपूर्ण स्थान रखते है। उन्होंने कहा कि होर्डिंग एवं बैनरों के माध्यम से मेला क्षेत्र में आने वाले लोगों को भी जागरूक किया जाय। मेला में ड्रोन के माध्यम से भी मेला क्षेत्र की गतिविधियों पर नजर रखी जा सकती है। उन्होंने कहा कि किसी भी सेक्टर में कोई भी घटना होने पर तत्काल उस सेक्टर में नियुक्त अधिकारी अथवा कर्मचारी मौके पर पहुंचने के साथ-साथ कन्ट्रोल सेन्टर को भी स्थिति के बारे मे अपडेट़ करते हुए सहायता तुरन्त की जाय। उन्होंने कहा कि आपदा प्रबन्धन योजना में अगर किसी भी प्रकार की और कोई व्यवस्था अगर की जानी आवश्यक हो तो उसे भी बताया जाय, उसकी व्यवस्था केन्द्र सरकार से की जायेगी। पिछले कुम्भ को देखते हुए नेशनल लेवल पर कामन एलर्ट प्रोटोकाल लागू किया जायेगा।
ले. जनरल एनडीएमए ने कहा कि आपदा प्रबन्धन योजना से जुड़ी मार्क ड्रिल भी हर सेक्टर में की जाय। उन्होंने कहा कि सेना एवं प्रशासन का आपस में बेहतर समन्वय होना चाहिए, जिससे किसी भी समस्या को तुरन्त पर काबू पाया जा सके। उन्होंने मेला क्षेत्र में आ रही विभिन्न सुरक्षा बलों पर प्रशंसा व्यक्त की । उन्होने एनडीआरएफ की तैयारियों को देखा तथा संतोष जाहिर किया। बैठक के बाद मा. उपाध्यक्ष मेला कार्यालय में स्थापित कन्ट्रोल कमाण्ड सेन्टर भी देखने पहुंचे, जहां पर उन्होंने मेला क्षेत्र मे स्थापित कैमरों से पूरे मेला क्षेत्र की गतिविधियों पर रखी जा रही नजर को भी देखा।
बैठक में ले. जनरल एनडीएमए श्री एन.सी. मारवा, जनरल रविन्द्र प्रताप साही, उपाध्यक्ष, उ.प्र. राज्य आपदा प्रबन्धन ब्रिगेडियर श्री अजय गंगवार, मण्डलायुक्त डॉ. आशीष कुमार गोयल, जिलाधिकारी कुम्भ श्री विजय किरन आनन्द, जिलाधिकारी प्रयागराज श्री सुहास एल.वाई., डीआईजी कुम्भ श्री के.पी. सिंह, एसएसपी प्रयागाराज श्री नीतिन तिवारी सहित सम्बन्धित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित थे।

Comments

comments

error: Content is protected !!