कुम्भ 2019 : कुंभ प्रशासन ने बच्चों और बुजुर्गों के गुम होने से बचने के लिए दिया आधुनिक जादुई ताबीज

उपासना डेस्क प्रयागराज: हिंदी फिल्मों की वह बात पुरानी हो गई. भले ही प्रयागराज कुंभ में लाखों करोड़ों की भीड़ आ रही हो, लेकिन इस बार आपके अपने आप से नहीं बिछड़ेंगे. क्योंकि इस बार कुंभ मेले में आपके छोटे भाई या बच्चों को ऐसी ताबीज दी जा रही है जिससे खोए हुए अपनों की पहचान करना आसान हो जाएगा.
इस बार कुंभ में चल रहा है – चिप वाले लॉकेट का जादू. अगर किसी ने लॉकेट पहन लिया तो लाखों की भीड़ में भी उसे पल भर में खोज निकाला जाएगा. जाहिर है कि इस बार कुंभ में बच्चों और बुजुर्गों के गुम होने के कोई चांस नहीं है. प्रयागराज कुंभ में ऐसी आधुनिक व्यवस्था की गई है कि आपके अपने अब कुंभ की भीड़ में गुम नहीं होंगे. कुंभ प्रशासन ने एक फोन कंपनी के साथ मिलकर एक ऐसी ताबीज बनाई है जिससे आपके बच्चे कुंभ के जनसैलाब में खोएंगे नहीं. इसके लिए आपको संगम किनारे बने आधुनिक खोया-पाया केंद्रों में रजिस्टर करवाना है इसके बाद वो एक कार्ड देंगे जिसे आप आधुनिक जादुई ताबीज भी कह सकते हैं.
आधुनिक ताबीज आरएफआईडी तकनीकी से लैस है, जिसके जरिए छोटे बच्चों को कुंभ मेला में आते ही रजिस्ट्रेशन कराया जाता है और उनके गले में एक स्वैप कार्ड जैसा कार्ड लटका दिया जाता है. रजिस्ट्रेशन के दौरान ही बच्चों के साथ आए माता पिता का फोन नंबर और उनका पूरा पता दर्ज किया जाता है. यह सारा डाटा उस कार्ड में फीड किया जाता है, जिसे बच्चे के गले में एक खास तरह के कागज में लपेट कर प्लास्टिक के कवर में डालकर पहनाया जाता है.

कार्ड में होती है बच्चे से जुड़ी अहम जानकारी

इस कार्ड पर लिखा है कृपया मेरी मदद करें, यानी अगर आपका बच्चा आपसे खोया तो कुंभ मेले में घूम रहा कोई भी शख्स उस बच्चे के गले में कार्ड देखकर उसे नजदीकी खोया पाया केंद्र तक या खोया पाया केंद्र के सहायक बूथों तक पहुंचा देगा. उस केंद्र पर बच्चे के गले में रखा हुआ कार्ड जैसे ही एक खास मशीन पर रखा जाएगा बच्चे के माता-पिता के रजिस्टर नंबर पर तुरंत ही आपात संदेश भेजा जाएगा साथ ही जिस बूथ पर बच्चा खड़ा है वहां के एजेंट का नंबर भी उन्हें भेजा जाएगा.

Comments

comments

error: Content is protected !!