मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किया कुम्भ 2019 के कार्यक्रमों का शुभारम्भ

उपासना डेस्क, प्रयागराज: मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने प्रयागराज भ्रमण के दौरान आज कुम्भ 2019 के तहत प्रयागराज के खुशरोबाग के आधुनिकीकरण, सुद्ढ़ीकरण एवं सौन्दर्यीकरण के कार्यों का लोकार्पण किया। इन कार्यों की कुल लागत 1264.10 लाख रूपये है। मा0 मुख्यमंत्री जी के साथ उप मुख्यमत्रंी श्री केशव प्रसाद मौर्य एवं पर्यटन मंत्री डाॅ0 रीता बहुगुणा जोशी, नंद गोपाल गुप्ता नंदी एवं सम्बन्धित विभागों के अधिकारी भी मौजूद रहे। मा0 मुख्यमंत्री जी ने खुशरोबाग का भ्रमण करते हुए करायें गये कार्यों का अवलोकन किया तथा सम्बन्धित अधिकारियों से भी जानकारी लेते रहे। उन्होंने खुशरोबाग में अमरूद के पौधे के सम्बन्ध में भी जानकारी ली। इसके बाद मा0 मुख्यमंत्री जी चंद्रशेखर आजाद पार्क में स्कूली बच्चों की मानव श्रृंखला कार्यक्रम में प्रतिभाग किया तथा वहां पर उपस्थित स्कूली छात्र-छात्राओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रयागराज के गौरव को बताते हुए उन्होंने कहा कि कुम्भ के इतिहास में यह प्रथम बार हो रहा है कि स्वयं मा0 प्रधानमंत्री जी ने स्वयं प्रयागराज की धरती पर गंगा पूजन कर इस विश्व के सबसे बड़ें आयोजन कुम्भ की शुरूआत की है। उन्होंने कहा कि इस कुम्भ के भव्य आयोजन को देखने के लिए विभिन्न देशों के राजदूतों ने संगम क्षेत्र का भ्रमण किया तथा अपने राष्ट्रध्वजों को बड़ी शान के साथ फहराया। उन्होंने कहा कि कुम्भ के दृष्टिगत प्रयागराज में विभिन्न विकास के स्थायी कार्य कराये गये है, जो कुम्भ में आने वाले श्रद्धालुओं, पर्यटकों को एक नया अनुभव देंगे। उन्होंने कहा कि मा0 प्रधानमंत्री जी के स्वच्छता के संकल्प को इस कुम्भ मेले में साकार किया जा रहा है। इसके लिए विभिन्न प्रकार के आधुनिक सफाई, उपकरणों का उपयोग किया जा रहा है। उन्होंने उपस्थित बच्चों से कहा कि 450 वर्षों के बाद अक्षयवट एवं सरस्वती कूप आम जन के दर्शन हेतु खोला जा रहा है, आप सब भी अपने माता-पिता के साथ सरस्वती कूप एवं अक्षयवट के दर्शन करने जाये।

मुख्यमंत्री जी चंद्रशेखर आजाद पार्क से निकलकर कीड़गंज में निर्मल अखाड़ा के संतनिवास भवन का उद्घाटन किया तथा वहीं पर आयोजित प्रार्थना सभा में प्रतिभाग किया। इसके बाद मा0 मुख्यमंत्री जी अक्षयवट पहुंचे, जहां पर उन्होंने जनसाामान्य के भ्रमण एवं दर्शन के लिए खोले जाने की शुभारम्भ किया। उन्होंने स्वयं भी अक्षयवट का दर्शन किया तथा परिक्रमा भी की। तत्पश्चात मा0 मुख्यमंत्री जी ने सरस्वती कूप का दर्शन किया एवं मां सरस्वती की प्रतिमा का पूजन किया तथा आरती भी की। वहां से निकलकर मा0 मुख्यमंत्री जी मेला क्षेत्र में स्थापित कम्प्यूटरीकृत खोया-पाया केन्द्र का फीता काटकर शुभारम्भ भी किया तथा उन्होंने खोया-पाया केन्द्र में लगे कक्षों का निरीक्षण किया और वहां की व्यवस्थाओं के सम्बन्ध में मेलाधिकारी श्री विजय किरन आनन्द से जानकारी प्राप्त की। इसके बाद मा0 मुख्यमंत्री जी कम्प्यूटरीकृत खोया-पाया केन्द्र के समीप बने वर्चूअल रियल्टी कियोस्क भी पहुंचे तथा वहां भी फीता काटते हुए शुभारम्भ किया। इस वर्चूअल रियल्टी कियोस्क में पूरे मेला क्षेत्र को देखा जा सकता है।

मा0 मुख्यमंत्री जी मेला क्षेत्र में स्थापित मीडिया सेन्टर पहुंचे, जहां पर उन्होंने अत्यधुनिक तकनीकी से लैस मीडिया सेंटर का फीता काटकर उद्घाटन किया तथा मीडिया सेन्टर में बने कक्षों का निरीक्षण किया। निदेशक सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग उत्तर प्रदेश श्री शिशिर से मीडिया सेन्टर के कार्यों के संचालन के सम्बन्ध में व्यापक जानकारी ली। मा0 मुख्यमंत्री जी ने मीडिया से वार्ता भी की। प्रेस की ओर से अपर मुख्य सचिव सूचना श्री अवनीश अवस्थी ने मा0 मुख्यमंत्री जी का स्वागत किया। मीडिया सेन्टर में ही सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग, प्रयागराज कुम्भ मेला प्राधिकरण तथा पर्यटन विभाग के द्वारा कुम्भ के सम्बन्ध में प्रकाशित की गयी पुस्तकों का विमोचन भी किया। 

उन्होंने दैनिक जागरण समाचार पत्र के कुम्भ पर आधारित प्रकाशन का विमोचन भी किया। मा0 मुख्यमंत्री जी ने मीडिया से वार्ता के दौरान कुम्भ 2019 की विशेषताओं पर प्रकाश डालते हुये कहा िकवह कुम्भ हर प्रकार से अबतक का सबसे भव्य एवं दिव्य कुम्भ है। उन्होंने इसकी सफलता के लिये मीडिया के सहयोग का अभिनंदन किया। मा0 मुख्यमंत्री जी मीडिया सेन्टर से निकलकर त्रिवेणी पुष्प पहंुचे, जहां पर उन्होंने त्रिवेणी पुष्प के पुनरोद्धार कार्यों का उद्घाटन किया तथा त्रिवेणी पुष्प का भ्रमण भी उनके द्वारा किया गया। इसके बाद मा0 मुख्यमंत्री जी संस्कृति ग्राम पहुंचे तथा दीप प्रज्जवलित कर संस्कृति ग्राम का अवलोकन किया तथा संस्कृति विभाग के चित्रों की प्रदर्शन का उनके द्वारा उद्घाटन किया। अपर मुख्य सचिव पर्यटन एवं सूचना श्री अवनीश कुमार अवस्थी जी ने मा0 मुख्यमंत्री जी को संस्कृति ग्राम में लगे प्रदर्शनी तथा चित्रों का व्यापक रूप से जानकारी दी गयी, जिसमें अपर मुख्य सचिव द्वारा उन्हें सल्लतनतकाल, वैदिक काल, सिंधु घाटी सभ्यता, रामायण, महाभारत आदि प्राचीन संस्कृति पर आधारित बनाये गये प्रदर्शनी के सम्बन्ध में जानकारी दी गयी । इसके बाद मा0 मुख्यमंत्री जी कुम्भ के दृष्टिगत बनायी गयी टेंट सिटी का भ्रमण करने पहुंचे, जहां पर उन्हें अपर मुख्य सचिव द्वारा टेंट सिटी की जानकारी दी गयी। मा0 मुख्यमंत्री जी ने टेंट सिटी में ही हवन आदि धार्मिंक अनुष्ठान की की गयी व्यवस्था को भी देखा। इसके बाद मा0 मुख्यमंत्री जी जगतगुरू स्वामी हंसदेवाचार्य जी महाराज के शिविर पहुंचे, जहां पर उन्होंने शिविर का उद्घाटन किया तथा शिविर में आयोजित धार्मिंक कार्यक्रम में प्रतिभाग किया।

Comments

comments

error: Content is protected !!