उप राष्ट्रपति वैंकेया नायडू ने गंगा जी आरती के बाद अक्षयवट, सरस्वती कूप, हनुमान जी किया दर्शन एवं पूजन

उपासना डेस्क, कुम्भ, प्रयागराज: महामहिम उप राष्ट्रपति भारत श्री एम. वैंकेया नायडू के प्रयागराज आगमन पर मा. मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश श्री योगी आदित्यनाथ जी ने बमरौली एयरपोर्ट पर उनका स्वागत किया। मा. स्वास्थ्य मंत्री श्री सिद्धार्थ नाथ सिंह जी ने भी मा. उप राष्ट्रपति जी का स्वागत किया। मा. उप राष्ट्रपति जी सड़क मार्ग से संगम तट पर पहुंचे। जहां पर उन्होंने गंगा पूजन एवं आरती भी की। इसके बाद उन्होंने संगम तट पर कुम्भ के स्लोगन दिव्य कुम्भ भव्य कुम्भ के साथ फोटो भी खिचवाई। उन्होंने संगम तट पर उपस्थित मीडिया बन्धुओं को बताया कि इस पवित्र संगम मे स्नान एवं पूजन हो रहा है यह हमारी पद्धति एवं सांस्कृतिक परंपरा है। उन्होंने कहा कि नदियां हमारी जीवन की धारा है, इन्हें सुरक्षित रखना तथा अविरल बनाया रखना हर मानव का पवित्र कर्तव्य है। उन्होंने कहा कि इस पवित्र कुम्भ के अवसर पर अपनी पुरानी परंपरा को याद रखते हुए नदियों को सुरक्षित, स्वच्छ एवं अविरल रखने के लिए पूरा प्रयास करना चाहिए। उन्होंने कुम्भ के लिए किये गये भव्य आयोजन की खुलेमन से तारीफ की और उत्तर प्रदेश सरकार, जिला प्रशासन तथा कुम्भ प्रशासन की टीम को ऐतिहासिक कुम्भ के सफल आयोजन के लिए बधाई दी। उन्होंने कहा कि नदिया हमारे जीवन की लाइफलान है। नेचर (प्रकृति) और कल्चर (संस्कृति) दोनो मिलकर एक बेहतर भविष्य का निर्माण करते है। उन्होंने प्रसन्नता जाहिर करते हुए कहा कि उन्हें खुशी हो रही है कि वे ऐसे भारत देश के उप राष्ट्रपति है, जहां पर प्रकृति और सांस्कृतिक दोनों का संगम है।

मा. उप राष्ट्रपति जी संगम तट से निकलकर अक्षयवट पहुंचे, जहां पर अक्षयवट का दर्शन किया तथा अक्षयवट का परिक्रमा भी की। मण्डलायुक्त डॉ. आशीष कुमार गोयल ने मा. उप राष्ट्रपति जी को अक्षयवट के ऐतिहासिक महत्व की जानकारी विस्तार से दी। अक्षयवट पर मा. राज्यपाल उत्तर प्रदेश श्री राम नाईक जी ने महामहिम उप राष्ट्रपति को अक्षयवट के पत्ते भेट किया। इसके बाद मा. उप राष्ट्रपति जी सरस्वती कूप गये, जहां पर सरस्वती कूप को देखा तथा वहीं पर स्थापित सरस्वती जी प्रतिमा का भी दर्शन किया। इसके बाद मा. उप राष्ट्रपति जी लेटे हुए हनुमान जी के मन्दिर गये, जहां पर विधिवत रूप से हनुमान जी का पूजन एवं आरती किया। मा. उप राष्ट्रपति जी के साथ मा. राज्यपाल उत्तर प्रदेश श्री राम नाईक जी एवं मा. स्वास्थ्य मंत्री श्री सिद्धार्थ नाथ सिंह जी ने भी गंगा पूजन, अक्षयवट, सरस्वती कूप एवं हनुमान जी का दर्शन किया।

मा. उप राष्ट्रपति जी हनुमान जी के दर्शन एवं पूजन के बाद सेक्टर-4 महावीर मार्ग में स्थित अक्षयवट सांस्कृतिक पण्डाल में आयोजित युवा कुम्भ सम्मेलन के कार्यक्रम मे मुख्य अतिथि के रूप में प्रतिभाग किया। मा. उप राष्ट्रपति, मा. राज्यपाल, उत्तर प्रदेश श्री राम नाईक एवं मा. कैबिनेट मंत्री श्री नन्द गोपाल गुप्ता नन्दी ने दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मा. उप राष्ट्रपति जी ने सर्वप्रथम प्रदेश सरकार एवं स्थानीय प्रशासन को कुम्भ के सफल आयोजन के लिए उनका अभिनन्दन किया। इस तरह का भव्य आयोजन निष्ठा एवं लगन से ही सम्भव हो सका है। उन्होंने प्रयागराजवासियों को भी इस कुम्भ को सफल बनाने में दिये गये सहयोग के लिए अभिनन्दन किया। उन्होंने कहा कि कुम्भ मे आये साधु-संतो एवं श्रद्धालुओं के प्रति भी अपना अभिनन्दन किया और कहा कि साधु-संतों एवं श्रद्धालुओं की उपस्थिति ने इस कुम्भ के आयोजन को सार्थक रूप दिया। उन्होंने कहा कि विभिन्न प्रान्तों से आये श्रद्धालुओ के आगमन से कुम्भ की गरिमा को बढ़ाया है तथा इस कुम्भ के आयोजन में विभिन्न सांस्कृति कार्यक्रम हो रहें है, जो भारत की संस्कृति को प्रदर्शित कर रहें है। उन्होंने कहा कुम्भ के आयोजन के लिए शहर का नवीनीकरण करते हुए कुम्भ में आने वाले श्रद्धालुओं की मूलभूत सुविधाओं का ध्यान रखा गया। इसके लिए चौराहों का सुन्दरीकरण किया गया तथा अतिक्रमणों को हटाकर सड़कों का चौडीकरण किया गया। उन्होंने कहा कि शहर की सड़कों को सुन्दर बनाया गया तथा शहर दीवारों पर आकर्षक चित्रकारी की गयी है, जो यहां पर आने वाले विदेशियों को लुभा रही है। उन्होंने कहा कि प्रयागराज में कुम्भ के लिए किये गये कार्यों से पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा।

मा. उप राष्ट्रपति जी ने युवा कुम्भ के अवसर पर उपस्थित युवा कुम्भ सेवकों की सराहना की और कहा कि हर साल प्रयागराज की धरती पर एक नया शहर बसना तथा यहां पर आने वाले लोगो की सुविधाओ तथा उनका मार्गदर्शन करने में कुम्भ सेवको का महत्वपूर्ण योगदान रहता है। उन्होंने बताया कि कुम्भ दर्शन करने आये विभिन्न देशो के नागरिकों ने कुम्भ आयोजन की तारीफ की है। उन्होंने कहा कि हम किसी भी धर्म के हो या किसी भी जाति के लेकिन विविधता मे एकता हमारे देश की पहचान है तथा इस कुम्भ में इसकी ही झलक यहां दिखती है। उन्होंने कश्मीर में हुयी आतंकी घटना पर संवेदना व्यक्त की तथा कार्यक्रम शुरू होने से पहले, शहीदों के प्रति दो मिनट का मौन रखा गया।

युवा कुम्भ सम्मेलन में मा. उप राष्ट्रपति ने कुम्भ में उत्कृष्ट कार्य करने वाले युवा कुम्भ सेवकों को सम्मानित किया तथा उन्हें प्रोत्साहित भी किया। कार्यक्रम में मा. कैबिनेट स्टाम्प मंत्री श्री नन्द गोपाल गुप्ता नन्दी जी ने मा. उप राष्ट्रपति एवं मा. राज्यपाल उत्तर प्रदेश जी को गंगा जल एवं शाल देकर सम्मानित किया गया।

मा. राज्यपाल, उत्तर प्रदेश श्री राम नाईक ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मा. उप राष्ट्रपति के प्रयागराज आगमन पर उनको धन्यवाद दिया तथा कुम्भ के सफल आयोजन के लिए प्रशासनिक अधिकाकरियों तथा युवा कुम्भ सेवकों के प्रति आभार व्यक्त किया। मा. कैबिनेट स्टाम्प मंत्री श्री नन्द गोपाल गुप्ता नन्दी जी ने मा. उप राष्ट्रपति एवं मा. राज्यपाल के प्रयागराज आगमन पर उनको धन्यवाद ज्ञापित किया।

मा. उप राष्ट्रपति जी युवा कुम्भ सम्मेलन के बाद सेक्टर-18 में परमार्थ निकेतन आश्रम, अरैल में आयोजित कार्यक्रम कीवा कुम्भ मेला तथा अंतर्राष्ट्रीय योग महोत्सव में मुख्य अतिथित के रूप में प्रतिभाग किये। उसके बाद मा. उप राष्ट्रपति बमरौली एयरपोर्ट से अपने गंतव्य के लिए प्रस्थान किये।

Comments

comments

error: Content is protected !!