कमोरी महादेव, इलाहाबाद – औघड़ साधना के सिद्ध स्थान

प्रस्तुति: अजामिल
सभी चित्र: विकास चौहान

यज्ञ भूमि प्रयाग बहुविधि समर्पित शिव साधना के लिए आदिकाल से सिद्ध रहा है। कहते हैं कि यहां पर केवल मनुष्य ने ही नहीं बल्कि पृथ्वी पर रहने वाले तमाम जीवों ने शिव साधना करके मोक्ष प्राप्त किया है। प्रयाग में समय-समय पर आए साधु-संतों ने शिव साधना के विभिन्न मार्ग विकसित और प्रशस्त किए इसीलिए प्रयाग में शिव साधना सुरक्षित और आसान है।

आज से 400 बरस पूर्व प्रयाग का निरंजन सिनेमा के आसपास का क्षेत्र वनस्पतियों से वन आच्छादित था। आज के जैसी बस्तियां नहीं थी छोटे बड़े मार्ग बना लिए गए थे जिससे लोग अपने काम पर आया जाया करते थे। बताया जाता है कि इन्हीं दिनों आने जाने वाले लोगों ने घने जंगल के बीच एक औघड़ को देखा वह बड़ा रहस्यमय लगता था, वह कहां से आया था और क्यों आया था यह कोई नहीं जानता था। दो-चार दिन रुकने के बाद उस औघड़ ने उस स्थान पर एक मिट्टी का चबूतरा बनाकर उस पर पूजन-अर्चन के बाद शिवलिंग की स्थापना की। इस स्थापना के बाद इस क्षेत्र में अलग-अलग कामों से आने-जाने वाले लोगों ने वहां पहुंच कर विधिपूर्वक शिव की पूजा शुरु कर दी।

धीरे-धीरे वह स्थान पवित्र और आध्यात्मिक हो गया पता चला कि वह औघड़ साधु शिव मंदिरों की स्थापना का संकल्प लेकर ही कैलाश पर्वत से चला था। उसी क्रम में उसने यथोचित स्थान पाकर प्रयाग में भी शिव मंदिर स्थापित कर दिया था इस शिव मंदिर पर जब भक्तों का आना शुरू हो गया तो एक दिन वह औघड़ साधु रहस्मय तरीके से गायब हो गया। भक्तों ने इस मंदिर का नाम उसी साधु के नाम पर रखा और इस कमोरी महादेव संबोधित किया।

आज कमोरी महादेव का मंदिर भक्तों की श्रद्धा और समर्पण से एक बहुत सुंदर मंदिर में बदल चुका है। कमॉरी महादेव मंदिर का वातावरण बेहद शांत और पवित्र प्रतीत होता है भक्तों को यहां पर विभिन्न प्रकार के फूलों की सुगंध की अनुभूति होती है। यह खुशबू कहां से आती है इसका स्रोत आज तक कोई नहीं जान पाया कहा जाता है कि मंदिर की स्थापना करने वाले वह रहस्यमय साधु आज भी रात्रि विश्राम के लिए वहां आते हैं। महादेव जी की सेवा करते हैं मंदिर की साफ सफाई में उनका रहस्यमय योगदान भक्तों ने कई बार देखा है।

कमोरी महादेव की यह महिमा है कि उनके पास आने वाला भक्त सहज ही अपनी समस्याओं को निर्मूल करके जाता है कमॉरी महादेव प्रयाग के मस्तक है देश विदेश के लोग उन के दर्शन के लिए पहुंचते हैं वर्ष में कई कार्यक्रम कमोरी महादेव परिसर में मनाए जाते हैं जिनमें भक्तों की भागीदारी बढ़चढ़कर होती है यह पवित्र स्थान हर तरह से दर्शन के योग्य है ।

Comments

comments

error: Content is protected !!