पारम्परिक वार्षिक चित्रगुप्त पूजा पर बृहद आयोजन को प्रयत्नशील है शिप्रा कायस्थ महासभा

अनिल कुमार श्रीवास्तव, उपासना डेस्क: शिप्रा कायस्थ महासभा द्वारा यम द्वितीया के पावन मौके पर गाजियाबाद में पारम्परिक रूप से श्री चित्रगुप्त पूजा कार्यक्रम का विशाल आयोजन किया जाएगा। उक्त जानकारी महासभा के प्रमुख सदस्य अनुरंजन श्रीवास्तव ने देते हुए बताया कि आस्था के इस तीन दिवसीय कार्यक्रम में रंगारंग व सांस्कृतिक कार्यक्रम में नन्ही प्रतिभाएं अपनी मनभावन प्रस्तुतियों से कलम के पुजारियों को मंत्रमुग्ध करेंगी और समापन शोभायात्रा निकाल कर मूर्ति विसर्जन के साथ किया जाएगा।

दीपावली के बाद द्वितीया की तिथि को यह वार्षिक चित्रगुप्त पूजा पारम्परिक रूप से शिप्रा कायस्थ महासभा सार्वजनिक तौर पर विगत 14 वर्षो से मना रही है। इसी कड़ी को आगे बढ़ाते हुए महासभा ने इस बार दीप उत्सव के बाद 20 अक्टूबर को बच्चो की मनभावन सांस्कृतिक, धार्मिक प्रस्तुतियों के बाद 21 अक्टूबर को चित्रगुप्त पूजन दिवस पर विशाल आयोजन का निश्चय किया है। गाजियाबाद के शिप्रा रिवेरा ज्ञान खण्ड 3, बी ब्लॉक इंदिरापुरम इलाके में कार्यक्रम की शुरुआत भगवान चित्रगुप्त की पूजा अर्चना के साथ कि जाएगी, कलम दवात की इस पूजा के बाद अगले दिन 22 अक्टूबर को इलाके में विशाल शोभायात्रा निकाल कर मूर्ति विसर्जन किया जाएगा।इस तीन दिवसीय आस्था के कार्यक्रम में मुख्य आकर्षण चित्रगुप्त पूजा, कलम दवात पूजन, प्रतिभाओ की प्रस्तुतियां, शोभायात्रा व मूर्ति विसर्जन अद्वितीय होंगी।

कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए महासभा ने व्यापक रूपरेखा तैयार कर उसके क्रियान्वयन के लिए गत सप्ताह से ही चित्रगुप्त भक्तो की टोलियां बना कर क्रियान्वित करना शुरू कर दिया है।इस बार तीन दिवसीय चित्रगुप्त पूजन कार्यक्रम को ऐतिहासिक बनाने के लिए महासभा व उसके सहयोगी प्रयास में दिन रात एक करने में लगे हुए हैं।

Comments

comments

error: Content is protected !!