विशाल माघ मेले को सफलता पूर्वक सम्पन्न कराने के लिए प्रशासन ने कसी कमर

उपासना डेस्क (अनिल कुमार श्रीवास्तव/एल एन सिंह), प्रयागराज: प्रयागराज में लगने वाले पारम्परिक वार्षिक माघ मेला की अभूतपूर्व तैयारियों से इस वर्ष की बेतहासा बढ़ने वाली संभावित मेलार्थियों व श्रद्धालुओं की भीड़ को लेकर प्रशासन ने पूरी तरह चुस्त होकर मेला के विशाल क्षेत्र में चाक चौबंद कर दिया है।सुरक्षा व्यवस्था की विशेष तैयारियों स्थानीय गंगोत्री सभागार में पुलिस अधीक्षक ने विस्तृत जानकारी दी।

लगभग 2000 बीघे में लगने वाले इस 43 दिवसीय माघ मेले में सुरक्षा की दृष्टि से तकरीबन 22सौ पुलिसकर्मी तैनात किए जा रहे है।चप्पे चप्पे पर लगभग 174 कैमरों की निगरानी में सम्पन्न होने वाले इस मेले पर आकाशीय आधुनिक ड्रोन कैमरों की भी निगाहें बनी रहेंगी।इस विशाल मेले में सैकड़ो दुपहिया, चार पहिया वाहनों पर पुलिस मित्र सहायतार्थ उपलब्ध रहेंगे।मेलार्थियों व श्रद्धालुओ की सुरक्षा की दृष्टि से जीवन सुरक्षा कवच रूपी जैकेट्स की भरपूर मात्रा में व्यवस्था की गई है इन जैकेट्स का प्रयोग न कर नाव यात्रा करने पर पुलिस अधीक्षक ने दण्डात्मक कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।प्रतिदिन नाव की चेकिंग की जा रही है जिसमे अब तक बिना जैकेट्स प्रयोग नाव यात्रा करने पर 6 नौकाओं को सीज कर दिया गया है और 24 नाविकों के विरुद्ध कार्रवाई हुई है।आपातकालीन सेवाओ को चुस्त दुरुस्त रखने के साथ अवांछनीय तत्वों पर विशेष नजर रखी जा है। मेले से भिक्षुकों को हटाने के लिए भिक्षुक निरोधक दस्ते का गठन कर उन्हें भिक्षुक व अतिक्रमण फ्री रखने के खासे निर्देश दिए गए हैं।इस विशाल मेला क्षेत्र को 6सेक्टरों में बाट कर 38 चौकियां और 13 फायर स्टेशन बनाये हैं।इस माघ मेले में सुरक्षा चाक चौबंद के खासे इंतजाम के साथ उच्चाधिकारियों व विशेषज्ञों ने पुलिसकर्मियों व विभागीय कर्मचारियों को आचरण व्यवहार, दायित्वों, कर्तव्यों आदि विषयों पर प्रशिक्षित कर मेला सम्बन्धी आवश्यक जानकारी दी ताकि इस विशाल मेले को सफलतापूर्वक संपन्न किया जा सके।

उल्लेखनीय है कि इस 43 दिवसीय ऐतिहासिक मेले का मुख्य आकर्षण स्नान पर्व है और इस बार विभिन्न तिथियों पर आधा दर्जन अति महत्वपूर्ण स्नान निर्धारित हैं।पौष पूर्णिमा के मौके पर 10 जनवरी को पहला, मकर संक्रांति के पावन अवसर पर 15 जनवरी को द्वितीय स्नान, 24जनवरी को मौनी अमावस्या पर तृतीय स्नान है।इसी प्रकार 30जनवरी को बसन्त पंचमी, 9 फरवरी को माघी पूर्णिमा, 21 फरवरी को महाशिवरात्रि का पावन स्नान पड़ रहा है।

Comments

comments

error: Content is protected !!