महाशिवरात्रि अपनी राशि के अनुसार करें शिवपूजा

वर्ष 2016 में महाशिवरात्रि सात मार्च को पड़ रही है। इस दिन सोमवार है, जो हिन्दू परंपरा में भगवान शिव की पूजा के लिए एक समर्पित दिन है। इसलिए इस साल की महाशिवरात्रि और भी खास मानी जा रही है।

हिन्दू पंचांग के अनुसार, इस बार महाशिवरात्रि धनिष्ठा नक्षत्र में मनाई जाएगी। सोमवार के दिन “शुभ” नाम का योग है, जो पूरे दिन रहेगा।

ज्योतिषशास्त्रज्ञों के अनुसार यदि महाशिवरात्रि के दिन भगवान शिव की पूजा व्यक्ति अपनी राशि के अनुसार निम्नलिखित वस्तुओं और पदार्थों से करें तो निश्चित ही शुभ परिणाम प्राप्त होंगे:

मेष राशि: भगवान शिव पूजा श्वेत अकवन या मंदार फूल और दही से करें।

वृषभ राशि: भगवान शिव का गंगाजल-दुग्ध यानी गंगा जल में कच्चा दूध मिला कर अभिषेक करें।

मिथुन राशि: मंदिर में शिवलिंग के ऊपर तीन या पांच पत्तियों वाले बेल पत्र चढ़ाएं।

कर्क राशि: भगवान शिव सुगंधित चंदन और इत्र अर्पित करें।

सिंह राशि: इस राशि के व्यक्तियों को भगवान शिव की पूजा कस्तूरी से करनी चाहिए। यदि यह न हो पाए तो महाशिवरात्रि की शाम में घी का दीपक जलाना चाहिए।

कन्या राशि: शिव मंदिर में शिवलिंग के जलाभिषेक के बाद शिव षडाक्षर मंत्र (ॐ नम: शिवाय) का जाप करें।

तुला राशि: भगवान शिव को मक्खन और मिश्री चढ़ाएं।

वृश्चिक राशि: भगवान शिव को शहद और कच्चा दूध अर्पित करें।

धनु राशि: भगवान शिव को धतूरा फूल, धतूरा फल, भांग आदि अर्पित करें।

मकर राशि: भगवान शिव का श्वेत पदार्थ, जैसे- दूध, दही, मिश्री, श्वेत पुष्त से पूजा करें।

कुंभ राशि: इस राशि के व्यक्तियों को दूध में केसर मिलाकर शिवलिंग का अभिषेक करना चाहिए।

मीन राशि: भगवान शिव को अरवा चावल और चंदन चढ़ाएं।

नोट: उपर्युक्त विधियों से भगवान शिव की पूजा करने से पहले सामान्य दिनों में आप जिस तरह से भगवान की पूजा करते हैं, पहले उसे संपन्न करें, फिर इन विधियों से पूजा करें।

Comments

comments

error: Content is protected !!