कुम्भ कान्कलेव में हुआ विचारो का आदान-प्रदान

इंडिया थिंक काउन्सिल, नई दिल्ली एवं पर्यटन विभाग उत्तर प्रदेश के संयुक्त तत्वाधान मे आज कुम्भ कॉन्क्लेव मेडिकल कालेज के प्रेक्षा गृह में मुख्य अतिथि मा. अध्यक्ष विधान सभा उत्तर प्रदेश श्री हदय नारायण दीक्षित एवं मा. उप मुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य, मा. स्टाम्प तथा न्यायालय शुल्क पंजीयन मंत्री नन्द गोपाल गुप्ता नन्दी, मा. पर्यटन मंत्री श्रीमती रीता बहुगुणा जोशी जी की उपस्थिति में तीन दिवसीय कुम्भ कॉन्क्लेव का शुभारम्भ दीप प्रज्जवल कर मंत्रोच्चार के साथ किया गया। इस अवसर पर मा. अध्यक्ष विधान सभा उत्तर प्रदेश श्री हदय नारायण दीक्षित ने इस आयोजन के लिए आयोजकों को बधाई दी। उन्होंने प्रयाग के महत्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि कोई भी शहर नया बन सकता है लेकिन प्रयाग नही बनाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि यहां पर संस्कृतियों का अनोखा संगम है। उन्होंने कहा कि प्रयाग में तीन नदियों का संगम होता है। उन्होने लोगो की सरस्वती के प्रति धारणा पर विस्तार से चर्चा की। उन्होने कहा कि भारत देश में नदियों से लोग प्यार करते हुए और नदियों उनके विचारो एवं भावों में बहती है। उन्होंने कहा कि वेद में नदी का अर्थ है वह जो नृत्य करती है बताया गया है। उन्होने कहा कि वेदिक काल मे नदियों का आवाहन किया जाता था। उन्होने कहा कि देश में जो नदियों के प्रति प्यार है वो किसी अन्य देश में नही पाया जाता है। उन्होने कहा कि कोई भी पर्व एवं त्यौहार के पीछे कई ऐतिहासिक कारण होते  है। उन्होने कहा कि प्रयाग मे लगने वाले कुम्भ में लोग बिन बुलाये आते है इसमे किसी को बुलाया नही जाता है। ब्रिटिस काल में भी कुम्भ के आयोजन में बिन बुलाये आने पर आश्चर्य माना गया था। उन्होने कहा कि कुम्भ की तैयारियों को तैयारियां जोरो से चल रही है। उन्होने प्रसन्नता व्यक्त की कि कुम्भ आयोजन के लिए अभी से तैयारिया शुरू कर दी गयी तथा यहां के लोग कुम्भ आयोजन के लिए अभी से आगन्तुकों का स्वागत करने के लिए तैयार खड़े है।

उप मुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि कुम्भ के आयोजन को यूनेस्कों ने विश्व धरोहर की मान्यता दे दी है यह मा. प्रधानमंत्री के सहयोग से सम्भव हो सका है। उन्होने कहा कि कुम्भ आयोजन में अच्छा प्रयास किया जा रहा है। कुछ चुनौतियां जरूर आ रही है लेकिन उन्हें पूरी दृढता के साथ सामना किया जा रहा है। उन्होने कहा कि प्रयाग मे आने वाले लोगो के लिए हम सभी पूरी तरह से तैयार रहे। उन्होने कहा कि पिछले कुम्भ आयोजन की तुलना में इसे और बेहतर किये जाने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होने कहा कि कुम्भ आयोजन में आने वाले तीर्थयात्रियों, पर्यटकों, श्रद्धालुओ, कल्पवासियों आदि के लिए बेहतर से बेहतर सुविधायें मिले यह हमारा संकल्प है।उन्होने कहा कि समरसता का माहौल कुम्भ मेले के आयोजन में देखते है। इसमें किसी भी धर्म या जात-पात का कोई भेद-भाव नही होता है। इसमे दूर-दूर के देशों के लोग यहां आते है और यहां के कुम्भ आयोजन को देखकर आश्चर्य चकित होते है। उन्होने कहा कि हम कुम्भ पूरी दुनिया के देशों को आमंत्रित करना चाहते है। उन्होने कहा कि कुम्भ में दस करोड़ से अधिक लोगों के आने की सम्भावना है। उन्होने सरकार कुम्भ मेले के आयोजन के प्रति गम्भीर है। उन्होने कहा कि मेला में स्वच्छता का विशेष ध्यान दिया जा रहा है। इसी उद्देश्य से विगत माघ मेला में स्वच्छता एवं स्वास्थ्य सेवाओ पर नयी तकीनीकों का उपयोग किया गया था जो सफल सिद्ध हुआ था। उन्होने कहा कि आगामी गांधी जयंती पर स्वच्छता की दिशा में नये कार्यक्रम शुरू किये जायेंगे। दो अक्टूबर को उत्तर प्रदेश को ओडीएफ करने का संकल्प प्रदेश सरकार द्वारा लिया गया है।

पर्यटन मंत्री श्रीमती बहुगुणा जोशी जी ने कहा कि कुम्भ आयोजन भावात्मक आयोजन होता है। उन्होने कहा कि मेले मे पिछड जाने पर पिछडे लोगो को मिलाने का कार्य बहुत ही सराहनीय कार्य होता है। उन्होने इस विषय पर अपने जीवन के बारे में भी विस्तार से बताया। उन्होने कहा कि मेले में लेजर शो का आयोजन किया जायेगा जो अद्भूत एवं आकर्षक होगा । उन्होने कहा कि कुम्भ में विभिन्न आकर्षक द्वार भी बनाये जायेगे।

मण्डलायुक्त डॉ. आशीष कुमार गोयल ने कहा कि इस बार मेला 3200 हेक्टेयर में बस रहा है तथा 5000 से अधिक संस्थाये आ रही है। उन्होंने कहा कि कुम्भ आयोजन के लिए विभिन्न कार्य चल रहे जिसमें अधिकांश कार्य 31 अक्टूबर तक पूरे हो जायेंगे। उन्होंने कहा कि निर्माण कार्यो की गुणवत्ता देखने लिए थर्ड पार्टी एजेंसी नियुक्त की गयी, जो कार्यो का निरन्तर मानीटरिंग करती है। उन्होने कहा कि इलाहाबाद मे एयरपोर्ट टर्मिनल भी निर्धारित समय में पूरा कर कुम्भ के पहले लोगों को हवाई यात्रा को और सुलभ बनाया जायेगा। उन्होने कहा कि सड़को का चौड़ीकरण हो रहा है तथा इन कार्यो को शीघ्र पूरा कर लेने पर इनके चौड़ीकरण से होने वाली सुविधा का लाभ लोगो को मिलने लगेगा तथा उन्हें जाम की समस्या से दो-चार होना भी नही पडेगा। 10 रेलवे ओवर ब्रिज शहर के ट्राफिक व्यवस्था का कायाकल्प कर देंगे। अण्डर ओवर ब्रिज को चार लेन किये जाने का कार्य भी शीघ्र पूरा किया जायेगा। उन्होंने कहा कि 32 चौराहों का सौन्दर्यीकरण एवं चौडीकरण किया जा रहा है। सिचाई विभाग के द्वारा घाट बनाये जा रहे है तथा बख्शी बांध में वृक्षारोपण कर उसे आकर्षक स्थल के रूप में विकसित किया जा रहा है। इसी तरह रोडवेज की बसों को भी दुरूस्त किया जा रहा है। जल निगम द्वारा पेयजल की व्यवस्था की एप्रोच रोड़ो पर की जायेगी। स्वास्थ्य सेवा को और बेहतर किया जा  रहा है।पुलिस में भी कई नये बैरक बन रही है। पर्यटन विभाग के द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजन किया जायेगा, जो पूरे दो महीन चलेगा। इसमें कुम्भ से सम्बन्धित एवं भारतीय संस्कृति को प्रदर्शित करते हुए आध्यामिक, सांस्कृतिक, कार्यक्रमों का आयोजन किया जायेगा। इस आयोजन में देश के विभिन्न व्यवजनों का स्वाद लोगों को मिले इसकी भी व्यवस्था की जायेगी। लोगों के रहने के लिए टेंट सिटी का बसायी जायेगी। उन्होने कहा कि स्वच्छता एवं सफाई के लिए माघ मेला कराये गये सफल प्रयोगों को कुम्भ में लागू किया जायेगा। 80 करोड से अधिक सफाई उपकरण लाये जायेंगे। इसी तरह 40 हजार से ज्यादा एलईडी लाईटों का प्रयोग मेला में किया जायेगा। वाटर एटीएम भी मेले में प्रयोग में लाये जायेंगे। ड्रेनेज एवं सीवरेज की व्यवस्था बेहतर की जायेगी तथा कूडा बिना जमीन गिराये उसे मेला क्षेत्र से बाहर कर दिया जायेगा।पार्किंग के लिए पार्किंग स्थल बनाये जायेंगे जिसमें आने वालो लोगो के वाहनो का पार्क किया जायेगा। उन्होने कहा कि चारो दिशाओ से आने वाले लोगो के लिए व्यवस्था की जायेगी। सुगठित वेंडर जोन स्थापित किया जायेगा।

अपर पुलिस महानिदेशक एस.एन. साबत ने कहा कि पुलिस के तरफ से बेहतर व्यवस्थाये की जा रही है। कुम्भ आयोजन के समय ट्राफिक व्यवस्था का सुचारू संचालन किया जायेगा। भीड़ नियंत्रण के कार्यो को बेहतर किया जायेगा। उन्होने कहा कि मेले के दौरान किसी भी समस्या से निपटने के लिए रणनीती तैयार कर ली गयी है। उन्होने कहा कि मेले में हजारों की संख्या में सीसीटीवी कैमरो के माध्यम से पूरे मेला क्षेत्र में नजर रखी जायेगी तथा समय-समय उसी के अनुसार आवश्यक कार्रवाही भी की जायेगी। मेले में संचार व्यवस्था को बेहतर किया जा रहा है।

Comments

comments

error: Content is protected !!